सच में दुनिया बहुत हसीन हैं

लखनऊ


. यह कहानी है गुजरते "वक़्त" की...
पचास साल पहले की बात है। लखनऊ के कॉल्विन ताल्लुकेदार्स कॉलेज के कक्षा चार के छात्र ने अपनी टीचर से कहा था...मैंम...मैं बड़ा होकर डॉक्टर बनूंगा और आपका भी इलाज करूंगा।
आखिर पचास साल बाद वो घड़ी भी आई...छात्र की बुज़ुर्ग टीचर इलाज कराने किंग जॉर्ज मेडिकल यूनीवर्सिटी पहुंची तो पता चला कि वहाँ का सबसे बड़ा डॉक्टर तो उनका वही स्टूडेंट है...जिसने पचास साल पहले उनसे डॉक्टर बनने का वादा किया था।
टीचर-स्टूडेंट जब मिले तो कुछ देर तक विभाग का माहौल तालियों से गडगड़ाता रहा...क्यूंकि उस महिला टीचर के शिष्य ने खुद अपनी कुर्सी अपनी टीचर के लिए छोड़ दी। अपने स्टूडेंट की कुर्सी पर जब टीचर बैठीं तो घंटों उनके आँसू नहीं रुके और विभाग में तालियों की गड़गड़ाहट...


सच में दुनिया बहुत हसीन हैं और बहुत ही इमोशनल..


.DR. A P TIKKU....HEAD OF THE DEPT. KGMC DENTAL COLLEGE LUCKNOW.


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---