लखनऊ ब्रेकिंग::सचिवालय पेंशनर एशोसिएशन की सभा में सचिवालय कोआपरेटिव बैंक का मुद्दा गरमाया::-


सचिवालय कोआपरेटिव बैंक


सचिवालय पेंशनर एशोसिएशन की सभा में सचिवालय कोआपरेटिव बैंक का मुद्दा गरमाया । जमाकर्ताओं ने आरबीआई की जांच रिपोर्ट मांगी।


बैंक के बुजुर्ग जमाकर्ता और सदस्यों ने आरबीआई की मनमानी पर जताई नाराजगी।एशोसिएशन की सभा में बैंक की कार्यप्रणाली पर भी लगे प्रश्न चिन्ह। 


2 दर्जन सेवानिवृत्त कर्मियों ने ग्रहण की एसोसिएशन की सदस्यता।


लखनऊ:- 4 नवम्बर--
हर माह की पहली तारीख को होने वाली सचिवालय पेंशनर वेलफेयर एशोसिएशन की योजना भवन के सभागार में हुई इस बार की आमसभा में सचिवालय के सेवानिवृत्त अधिकारियों और कर्मचारियों ने रिजर्व बैंक और कोआपरेटिव बैंक पर जमकर अपनी भड़ास निकाली साथ ही जमाकर्ताओं ने कोआपरेटिव बैंक से आरबीआई की जांच रिपोर्ट देने की बात उठाई। । बैंक में एक वर्ष से अधिक समय से लेन देन पर लगी रोक पर नाराजगी ब्यक्त करते हुए कोआपरेटिव बैंक सहित रिजर्व बैंक को कटघरे में खड़ा किया गया। सभा में आए जमाकर्ताओं ने धन के आभाव में अपने अपने दुःख दर्द गिनाए। सभी ने एक स्वर में कहा कि खाते से धन निकासी पर लगी रोक से बीमारी जैसी आवश्यकताओं के लिए भी अपनी जमा पूंजी से हाँथ धोना पड़ रहा है। अस्पतालों में भर्ती अपनों का ईलाज भी संभव नहीं हो पा रहा। सालभर में एक बार सिर्फ एक हजार रूपए निकालने की अनुमति जमाकर्ताओं के साथ मजाक है। बैंक अपने जमाकर्ताओं और सदस्यों को यह भी बताने को तैयार नहीं है कि आरबीआई ने रोक क्यों लगाई। बैंक भी अपने ग्राहकों को लगातार गुमराह कर रही है। पूछने पर कोई भी संतोषजनक उत्तर नहीं देता। जमाकर्ताओं के साथ बेरुखी की जाती है। कोई सही बात बताने को तैयार नहीं। बैंक के सभापति और सचिव कान में तेल डालें बैठे हैं। रिजर्व बैंक की जांच रिपोर्ट का खुलाशा क्यों नहीं किया जा रहा है। बैंक को इस हालत में पहुँचाने वालों पर तो कोई कार्यवाही हुई नहीं उलटे जमाकर्ताओं के जमा धन पर ही रोक लगा दी गई। बैंक को इस हालत में पहुँचाने वालों पर कार्यवाही क्यों नहीं की जाती। पेंशनर एशोसिएशन के सचिव एनपी त्रिपाठी ने आमसभा में हुई चर्चा को बिंदुवार रखते हुए बताया कि एशोसिएशन अपने सदस्यों के हितों के प्रति पूरी तरह सजग है और रिजर्व बैंक से संपर्क बनाए हुए है।
बैठक में आमंत्रित सचिवालय संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्र ने कहा कि यदि रिजर्व बैंक इस रोक को जल्दी नहीं हटाती तो लखनऊ के गोमती नगर आरबीआई के रीजनल कार्यालय पर सचिवालय के हजारों कर्मियों द्वारा धरना प्रदर्शन करते हुए केंद्र सहित राज्य सरकार का ध्यानाकर्षण कराया जाएगा।
पेंशनर एशोसिएशन के अध्यक्ष पी.के. शर्मा ने अपने सदस्यों को ढांढस बंधाते हुए  सदस्यता ग्रहण करने वाले नए सेवानिवृत्त सचिवालय कर्मियों का स्वागत किया । संरक्षक श्याम सुंदर अग्निहोत्री ने सचिवालय कोआपरेटिव बैंक के प्रयाशों से अवगत कराया। सचिव एनपी त्रिपाठी ने सभा का संचालन करते हुए एशोसिएशन की गतिविधियां रखीं और अक्टूबर माह सेवानिवृत्त हुए नए सदस्यों का माल्यापर्ण कर स्वागत किया गया। 


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---