प्रदेश में मिशन इन्द्रधनुष अभियान की पुख्ता तैयारी कराकर प्रभावी बनाया जाए सभी सहयोगी विभागों को कार्ययोजना बनाकर उनकी प्रतिभागिता से अवगत कराया जाए::--


प्रदेश के 73 जनपदों मे ंचार चरणों में चलेगा सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान टीकाकरण के लिए वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए -प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री देवेश चतुर्वेदी


लखनऊः 14.11.2019


प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री देवेश चतुर्वेदी ने आज कहा कि सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान 2.0 की सभी तैयारियों को गम्भीरता से पूरा कराकर इसका सफल और प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि अभियान में सहयोगी सभी विभागों को उनकी प्रतिभागिता सुनिश्चित कराने के लिए कार्ययोजना बनाकर दे दी जाए और कार्ययोजना के आधार पर उनका सहयोग प्राप्त किया जाये। उन्होंने कहा अभियान के चारों चरणों की पुख्ता तैयारी करने के साथ-साथ समुचित वैक्सीन की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाये। 
श्री देवेश चतुर्वेदी आज यहाँ जनपथ स्थित विकास भवन के सभा कक्ष में सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान 2.0 की तैयारियों के सम्बन्ध में राज्य स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने बैठक में निर्देश दिया कि टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये तथा ग्रामीण स्तर तक प्रभावी करने के लिए ग्राम प्रधानों को भी अभियान से जोड़ा जाए। बैठक में उन्होंने टीकाकरण अभियान की सम्पूर्ण प्रक्रिया की तैयारियों के साथ-साथ इस कार्य हेतु आशा, एन0एन0एम0 आंगनबाड़ी, मोबलाइजेशन वर्कर के ट्रेनिंग प्रोग्रामों की जानकारी भी ली। उन्होंने निर्देश दिया कि ट्रेनिंग प्रोग्रामों का फोटो सत्यापन भी सुनिश्चित कराया जाये। तथा अभियान की माॅनीटरिंग की व्यवस्था भी की जाये। 
ज्ञात हो कि प्रदेश में गोरखपुर तथा महोबा जनपद को छोड़कर 73 जनपदों के 425 ब्लाकों में 'सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान 2.0' चलाया जाना प्रस्तावित है। अभियान 02 दिसम्बर, 2019 06 जनवरी 2020, 03 फरवरी 2020 तथा 02 मार्च 2020 को चार चरणों में चलाया जायेगा।
अभियान की तैयारियों की समीक्षा हेतु प्रमुख सचिव श्री देवेश चतुर्वेदी की अध्यक्षता में सम्पन्न आज की बैठक में सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य बी. हेकाली झिमोमी, निदेशक पंचायती राज श्री बी0डी0 राम तिवारी, महानिदेशक परिवार कल्याण श्री उमाकान्त, राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी श्री ए0पी0 चतुर्वेदी सहित सम्बन्धित समस्त विभागों के नोडल अधिकारी उपस्थित थे। 
 


Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.