नाबार्ड वित्त पोषित आर0आई0डी0एफ0 योजना के अन्तर्गत 32 सम्पर्क मार्गों के चालू कार्यों हेतु रू0 8 करोड़ 87 लाख 99 हजार की धनराशि का किया गया आवंटन::--


लखनऊ, दिनांक 28 जनवरी 2020
उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशों के क्रम में नाबार्ड वित्त पोषित आर0आई0डी0एफ0 योजना अन्तर्गत विभिन्न जनपदों के 32 चालू कार्यों हेतु रू0 08 करोड़ 87 लाख 99 हजार की धनराशि का आवंटन उ0प्र0 शासन द्वारा किया गया है। इन 32 कार्यों में जनपद एटा, रायबरेली व अलीगढ में 1-1, उन्नाव में 11, आगरा में 2, आजमगढ़ में 3, अमेठी में 7 व पीलीभीत में 6 सम्पर्क मार्गों पर काम चल रहा है इनकी कुल लागत रू0 34 करोड़ 05 लाख 64 हजार है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-9 द्वारा जारी कर दिया गया है।
इसके अतिरिक्त जनपद गाजियाबाद में गाजियाबाद-लोनी रेल मार्ग पर बन्थला के पास दिल्ली-शामली-सहारपुर रेल सेक्शन के किमी 8/3-4 पर नौली स्टेशन के निकट लेबिल क्रासिंग सं0-8ए स्पेशल के स्थान पर 04 लेन रेल उपरिगामी सेतु के निर्माण हेतु रू0 58 करोड़ 34 लाख 53 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। जनपद प्रतापगढ़ में कटरा गुलाब सिंह लक्ष्मीगंज सराय आनादेव बाजार मार्ग चैनेज (0.000 से 5.515) का चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य (लम्बाई 5.515 किमी0) हेतु आंकलित लागत रू0 6 करोड़ 40 लाख 89 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुये लागत के सापेक्ष रू0 3 करोड़ 20 लाख की धनराशि अवमुक्त की गयी है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना के अन्तर्गत जनपद ललितपुर में निर्माणाधीन ग्राम खांदी का मजरा वृन्दावन सम्पर्क मार्ग एवं ग्राम खांदी का मजरा आमवारा सम्पर्क मार्ग हेतु रू0 01 करोड़ 13 लाख 50 हजार की धनराशि शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है। इस सम्बन्ध में भी आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन द्वारा जारी कर दिये गये हंै। 
उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिये हैं कि इन कार्यों में वित्तीय नियमों का अक्षरसः अनुपालन सुनिश्चित किया जाय तथा जारी शासनादेशों में उल्लिखित दिशा-निर्देशों का अनुपालन हर हाल में सुनिश्चित किया जाय।


 


Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.