आलमबाग बस टर्मिनल पर राष्ट्रीय सन्त व स्वच्छ भारत के जनक सन्त गाडगे जी का 144 वा जन्मदिवस मनाया गया::---


आलमबाग बस टर्मिनल पर राष्ट्रीय सन्त व स्वच्छ भारत के जनक सन्त गाडगे जी का जन्म 23 फरवरी सन 1876 को महाराष्ट्र के अमरावती जिले के शेणगांव मे हुआ था।आज 144 वा जन्मदिवस मनाया गया।


क्षेत्रीय अध्यक्ष रूपेश कुमार ने माल्यर्पण किया। और बताया कि बाबा ने दहेज प्रथा, बालविवाह, अशिक्षा,छुवाछुत, जैसी बुराईयों को दूर करने के लिए बहुत संधर्ष किया। उन्होंने कहा था की भूखे रहिए पर अपने बच्चों को शिक्षित बनाईये जिसमे आने वाली पीढ़ियों का विकास हो और बेहतर राष्ट्रीय का निर्माण हो सके।


मंदिर बनवाने से बेहतर है। की स्कूल,अस्पताल,व धर्मशालाएं बनवाये जिससे समाज व देश आगे बढ़ेगा।इनकी इस भूमिका को देखकर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी ने इन्हें अपना गुरु मानने लगे।इनके कार्यो की सराहना महात्मा गांधी जी ने भी करी।दक्षिण भारत मे इन्हें प्रभु के रूप में जाना जाता है।


6 दिसम्बर 1956 को डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु का समाचार पाकर वे रो पड़े और खाना पीना छोड़ दिया। जिससे 20 दिसम्बर 1956 को सन्त गाडगे बाबा का स्वर्गवास हो गया ।टर्मिनल पर शीतल प्रसाद, सुनील कुमार, रामसनेही, विजय कश्यप, जितेंद्र यादव,अनिल शर्मा, प्रेमलता,आदि।


 


Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.