ब्रेकिंग 👉::-प्रदेश सरकार सभी को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध:::== मुख्यमंत्री


समस्त कोविड अस्पतालों में दवाई तथा आॅक्सीजन की सुचारु व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश हाई रिस्क गु्रप के अधिक से अधिक टेस्ट किए जाएंसर्विलांस सिस्टम को मजबूत किया जाएजनपद लखनऊ व कानपुर नगर में विशेष ध्यान देते हुए रिकवरी दर को बेहतर बनाया जाए


चिकित्सकों तथा पैरामेडिक्स को प्रशिक्षण प्रदान करने का कार्य निरन्तर संचालित किया जाएके0जी0एम0यू0 को स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों से तथा एस0जी0पी0जी0आई0को मेडिकल काॅलेजों व चिकित्सा संस्थानों से वर्चुअल आई0सी0यू0 द्वारा जोड़ा जाएजनता को विभिन्न प्रचार माध्यमों से संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दी जाएई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए, जिससे लोग घर पर रहते हुए चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकें


लखनऊ: 29 सितम्बर, 2020


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि प्रदेश सरकार सभी को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके दृष्टिगत यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीजों को कोई दिक्कत न हो। उन्होंने समस्त कोविड अस्पतालों में दवाई तथा आॅक्सीजन की सुचारु व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।


मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। कोविड-19 के टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश देते हुए उन्हांेने कहा कि हाई रिस्क गु्रप के अधिक से अधिक टेस्ट किए जाएं। सर्विलांस सिस्टम को मजबूत किया जाए। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सर्विलांस व्यवस्था जितनी सुदृढ़ होगी, कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में उतनी अधिक सफलता मिलेगी।


मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित किया कि के0जी0एम0यू0 को स्वास्थ्य विभाग के अस्पतालों से तथा एस0जी0पी0जी0आई0 को चिकित्सा शिक्षा विभाग के अन्तर्गत मेडिकल काॅलेजों व चिकित्सा संस्थानों से वर्चुअल आई0सी0यू0 के माध्यम से जोड़ा जाए। इससे गम्भीर रोगियों को विशेषज्ञ चिकित्सकों के माध्यम से बेहतर इलाज की सुविधा प्राप्त होगी।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जब तक कोरोना की कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन विकसित नहीं हो जाती, तब तक सावधानी व बचाव ही एक मात्र उपाय है। इसके दृष्टिगत लोगों को जागरूक किए जाने की कार्यवाही लगातार जारी रखी जाए। जनता को विभिन्न प्रचार माध्यमों से संक्रमण से बचाव के बारे में जानकारी दी जाए।


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ई-संजीवनी एप के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही ओ0पी0डी0 सुविधा काफी उपयोगी सिद्ध हो रही है। इसके दृष्टिगत ई-संजीवनी एप का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए, जिससे लोग घर पर रहते हुए चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकें। उन्होंने चिकित्सकों तथा पैरामेडिक्स का प्रशिक्षण कार्य निरन्तर संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनपद लखनऊ व कानपुर नगर में विशेष ध्यान देते हुए रिकवरी दर को बेहतर बनाया जाए।


इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती वीना कुमार मीना, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


-


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---