ब्रेकिंग::-👉👉यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का स्थलीय निरीक्षण कर समीक्षा की गयी::==पढें विस्तार से खबर ।



उच्च गुणवत्ता बनाये रखते हुये पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण किया जाए,


पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का भौतिक कार्य 64 प्रतिशत संपन्न हो चुका है,


रेलवे ओवरब्रिज और फ्लाईओवर के कार्यों को तेजी से कराने के निर्देश,


स्ट्रक्चर्स के कार्य को तय समय सीमा में पूर्ण किया जाए,जनवरी 2021 में मुख्य मार्ग को यातायात हेतु खोलने की योजना है,

                                            -अवनीश कुमार अवस्थी


   दिनांक 21.11.2020 को यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने यूपीडा के वरिष्ठ अधिकारियों एवं निर्माणकर्ता कम्पनियों के आला अधिकारियों के साथ पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का स्थलीय निरीक्षण कर समीक्षा की। सबसे पहले श्री अवस्थी ने लखनऊ स्थित चांदसराय से निरीक्षण की शुरुवात की और एक्सप्रेसवे के पैकेज 1 के निर्माण कार्यों का जायजा लिया। यहां पर बनने वाले रेलवे ओवर ब्रिज का निरीक्षण करते हुए श्री अवस्थी ने निर्देशित किया की निर्माण कार्य मे तेजी लाई जाए तथा रेलवे विभाग से यथावश्यक अनुमति प्राप्त कर जनवरी माह के अंत तक कार्य पूर्ण कर लिया जाए। इसकेे साथ ही फ्लाईओवर व रेलवे ओवर ब्रिज के अप्रोच हेतु आर.ई. वाल को 15 जनवरी तक पूर्ण कराने के निर्देश दिए।

इसके अतिरिक्त श्री अवस्थी ने एक्सप्रेसवे पर निर्माणाधीन टोल प्लाजा का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा मे 31 मार्च 2021 तक टोल प्लाजा का निर्माण कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जाए तथा जिन उपकरणों को विदेश से मंगाया जाना है उनको मंगाने की प्रक्रिया तत्काल प्रारम्भ की जाए।

एक्सप्रेसवे के पैकेज 01 के निरीक्षण के दौरान श्री अवस्थी ने खेतों में कार्यरत कुछ महिलाओं से वार्ता की तथा एक्सप्रेसवे के विषय में उनकी राय पूछी तो महिलाओं नें एक्सप्रेसवे के निर्माण को लेकर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की है। इन महिलाओं में शामिल श्रीमती मिथिलेश ने बताया कि इस एक्सप्रेसवे के बन जाने से काफी फायदा होगा।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे चैनेज 0+505 तथा चैनेज 30+700 पर एन0एच0 56 को ऊपर से क्रास कर रहा है अतः इन जगहों पर फ्लाईओवर के गर्डर लांचिंग के लिए एन0एच0ए0आई0 से अनुमति प्राप्त कर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए कार्य कराने हेतु प्रोजेक्ट मैनेजर को श्री अवस्थी ने निर्देशित किया। निरीक्षण के दौरान श्री अवस्थी ने चेनेज 13+230 पर डी0बी0एम0 तथा बी0सी0 के कार्य की जांच अपने समक्ष करायी। उन्होेने कोर कटिंग कराकर कार्य को मानक के अनुरूप पाया। 

इसके अतिरिक्त श्री अवस्थी ने पैकेज 02 का दौरा किया और संरचनाओं के कार्यों की जांच की तथा परियोजना की प्रगति की समीक्षा की और 26 जनवरी 2021 तक पूर्वांचल एक्सप्रेसवे परियोजना को पूरा करने और यातायात हेतु खोलने के लिए संबंधित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया।

पैकेज 3 में रायबरेली अयोध्या मार्ग पर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के चैनेज 81+915 पर बनने वाले फ्लाईओवर पर गर्डर लॉन्चिंग का कार्य मुख्यकार्यपालक अधिकारी महोदय के सम्मुख किया गया। इसके साथ ही उनके द्वारा अन्य स्ट्रक्चर्स के काम को पूरा करने की समय सीमा के बारे में पूछा गया जिसके बारे में प्रोजेक्ट मैनेजर एप्को और पीआईयू 3 के अधिशासी अभियंता द्वारा सभी स्ट्रक्चर्स के कार्य को दिसम्बर 2020 तक पूरा कर लिए जाने की बात कही गई।

उल्लेखनीय है कि लखनऊ के चांदसराय से गाजीपुर के हैदरिया तक कुल 341 किलोमीटर लम्बे एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य इन दिनों तेजी से किया जा रहा है वर्तमान में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का 64 प्रतिशत भौतिक कार्य पूर्ण कर लिया गया है, इस एक्सप्रेसवे को जनवरी 2021 में यातायात हेतु खोलने की योजना है।

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---