ब्रेकिंग::-👉👉*राज्य सड़क निधि से विभिन्न जनपदों के 160 मार्गों के चालू कार्यों हेतु अवशेष रू0 25 करोड़ 32 लाख 49 हजार की धनराशि की गयी अवमुक्त*::==पढें विस्तार से खबर

 


*नाबार्ड वित्त पोषित आर0आई0डी0एफ0 योजना के अन्तर्गत विभिन्न जनपदों के 08 सेतुओं के चालू कार्यों हेतु रू0 03 करोड़ 46 लाख 38 हजार की धनराशि का किया गया आवंटन*

उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशों के क्रम में नाबार्ड वित्त पोषित आर0आई0डी0एफ0 योजना अन्तर्गत अनुदान संख्या-57/83 मद में विभिन्न जनपदों के 08 सेतुओं के चालू कार्यों हेतु रू0 03 करोड़ 46 लाख 38 हजार की धनराशि का आवंटन उ0प्र0 शासन द्वारा किया गया है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-9 द्वारा जारी कर दिया गया है।

इन 08 कार्यों में जनपद पीलीभीत में 03, बस्ती में 02 तथा बिजनौर, हाथरस व जौनपुर में 01-01 सेतुओं पर काम चल रहा है इनकी कुल लागत रू0 28 करोड़ 07 लाख 69 हजार है। जारी शासनादेश में सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि धनराशि का व्यय परियोजना पर अंकित मानक व विशिष्टियों के अनुरूप किया जाय तथा निर्माणाधीन सेतुओं की गुणवत्तायुक्त निर्माण की प्रगति की नियमित समीक्षा कर, समीक्षा रिपोर्ट शासन को उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाय।

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिये हैं कि इन कार्यों में वित्तीय नियमों का अक्षरसः अनुपालन सुनिश्चित किया जाय तथा जारी शासनादेशों में उल्लिखित दिशा-निर्देशों का अनुपालन हर हाल में सुनिश्चित किया जाय।*जनपद प्रयागराज में उत्तर रेलवे के अन्तर्गत प्रयाग-लखनऊ रेल खण्ड पर प्रयाग स्टेशन से फाफामऊ रेलवे स्टेशन के मध्य रेलवे सम्पार सं-75ए पर रू0 5 करोड़ की धनराशि की गयी अवमुक्त*

उ0प्र0 शासन द्वारा जनपद प्रयागराज में उत्तर रेलवे के अन्तर्गत प्रयाग-लखनऊ रेल खण्ड पर प्रयाग स्टेशन से फाफामऊ रेलवे स्टेशन के मध्य रेलवे कि0मी0 149/10-11 पर सम्पार सं-75ए (तेलियरगंज/मजार से बड़ा बघाड़ा/सलोरी सड़क मार्ग) पर 02 लेन रेल उपरिगामी सेतु का निर्माण कराये जाने हेतु रू0 52 करोड़ 80 लाख 12 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुये, उसके सापेक्ष रू0 5 करोड़ व्यय हेतु आवंटित किया गया है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-11 द्वारा जारी किया गया है।

जारी शासनादेश में उच्चाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि स्वीकृत धनराशि का व्यय वित्तीय हस्त-पुस्तिकाओं के सुसंगत प्राविधानों, समय-समय पर शासन द्वारा निर्गत शासनादेशों के अनुरूप किया जायेगा। लेबर सेस की धनराशि इस शर्त के अधीन होगी कि श्रम विभाग को उस धनराशि का नियमानुसार भुगतान किया जायेगा। 

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि कार्य की विशिष्टियां, मानक व गुणवत्ता की जिम्मेदारी कार्यदायी संस्था की होगी। प्रायोजना का निर्माण ससमय पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाय।

*जनपद कौशाम्बी में जी0टी0 मार्ग से सयारा मीठेपुर होते हुए सौरई खुर्द तक मार्ग के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य हेतु रू0 6 करोड़ 17 लाख 90 हजार की पुनरीक्षित प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गयी*

उ0प्र0 शासन द्वारा जनपद कौशाम्बी में जी0टी0 मार्ग से सयारा मीठेपुर होते हुए सौरई खुर्द तक मार्ग के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य हेतु रू0 6 करोड़ 17 लाख 90 हजार की पुनरीक्षित प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-11 द्वारा जारी किया गया है।

जारी शासनादेश में प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष को निर्देश दिये हैं कि कार्य सक्षम अधिकारी द्वारा प्राविधिक स्वीकृति प्राप्त करने के उपरान्त ही कार्य प्रारम्भ किया जाय। व्यय वित्त समिति द्वारा लगायी गयी शर्तों का पूर्णतयः अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। 

उपमुख्यमंत्री जी  ने सम्बन्धित  अधिकारियों  को निर्देशित किया है कि कार्य मे मानको व गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाय तथा कार्य ससमय पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाय।

उ0प्र0 शासन द्वारा राज्य सड़क निधि से विभिन्न जनपदों के 160 मार्गों के चालू कार्यों हेतु रू0 25 करोड़ 32 लाख 49 हजार की धनराशि अवमुक्त की गयी है। इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-1 द्वारा जारी किया गया है।

इन 160 चालू कार्यों में जनपद जौनपुर में 28, कुशीनगर में 24, सोनभद्र में 17, प्रतापगढ़ में 15, सम्भल व चन्दौली में 13-13, बलियां में 08, अमरोहा, सुल्तानपुर व गाजीपुर में 07-07, रामपुर में 06, सन्तकबीर नगर, बाराबंकी, अयोध्या, आजमगढ, कानपुर देहात व फतेहपुर में 02-02 तथा बांदा, बिजनौर व गोरखपुर में 01-01 निर्माण कार्य चल रहा है।

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि कार्य की विशिष्टियां, मानक व गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाय तथा कार्य ससमय पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाय।





Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.