ब्रेकिंग👉👉मुख्यमंत्री ने लखनऊ के बलरामपुर चिकित्सालय में कोविड-19 वैक्सीनेशन कार्यक्रम का अवलोकन किया::==पढें विस्तार से खबर

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आज 16 जनवरी, 2021 से पूरे देश में प्रारम्भ हुए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के माध्यम से अब इस महामारी पर पूरी तरह से नियंत्रण पाया जा सकेगा: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कोरोना वैक्सीन के लिए प्रधानमंत्री तथा देश के वैज्ञानिकों के प्रति आभार जताया, इतने कम समय में देश की जनता की रक्षा के लिए 02 कोविड वैक्सीन तैयार कर पाना प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ही सम्भव था: मुख्यमंत्री

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए आज से शुरू हो रहे प्रथम चरण से प्रदेश और देश को नई दिशा मिलेगीकेन्द्र सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप प्राथमिकता के अनुसार प्रदेश में वैक्सीनेशन किया जाएगकेन्द्र व राज्य के प्रयासों और की गयी व्यवस्थाओं से कोविड-19 को नियंत्रित करने में सफलता मिली 

आज उ0प्र0 में कोविड-19 के बहुत कम एक्टिव केसेज़ हैं, यह टीम वर्क के कारण सम्भव हुआ: मुख्यमंत्री, कोविड नियंत्रण में मीडिया ने सकारात्मक भूमिका निभायी, कोरोना टीके के सम्बन्ध में अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए मीडिया काम करे, टीकाकरण के लिए अपनी बारी का इन्तजार करें: मुख्यमंत्री

भारत द्वारा विकसित टीके विश्व के सबसे सफल और सस्ते वैक्सीन कोरोना वैक्सीनेशन के लिए निर्धारित प्रक्रिया का पूरा पालन किया जाएगा, टीकाकरण अभियान की शुरुआत के बाद भी लोगों को अभी पूरी सावधानी बरतनी होगी, कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन पूर्ववत करना होगा

 लखनऊ: 16 जनवरी, 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज बलरामपुर चिकित्सालय में कोविड-19 वैक्सीनेशन कार्यक्रम का अवलोकन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज 16 जनवरी, 2021 से पूरे देश में प्रारम्भ हुए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के माध्यम से अब इस महामारी पर पूरी तरह से नियंत्रण पाया जा सकेगा। उन्होंने कोरोना वैक्सीन के लिए प्रधानमंत्री जी तथा देश के वैज्ञानिकों के प्रति आभार जताया। उन्होंने कहा कि इतने कम समय में देश की जनता की रक्षा के लिए 02 कोविड वैक्सीन तैयार कर पाना प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में ही सम्भव था।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज से कोरोना वैक्सीनेशन के लिए शुरू हो रहे प्रथम चरण से प्रदेश और देश को नई दिशा मिलेगी। केन्द्र सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप प्राथमिकता के अनुसार प्रदेश में वैक्सीनेशन किया जाएगा। केन्द्र व राज्य के प्रयासों और की गयी व्यवस्थाओं से कोविड-19 को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। आज उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के बहुत कम एक्टिव केसेज़ हैं। यह टीम वर्क के कारण सम्भव हुआ है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड नियंत्रण में मीडिया ने सकारात्मक भूमिका निभायी। उन्होंने मीडिया का आह्वान करते हुए कहा कि वह कोरोना टीके के सम्बन्ध में अफवाहों को रोकने के लिए काम करे। सभी लोग कोरोना टीके के सम्बन्ध में फैलाई जा रही अफवाहों से बचें और टीकाकरण के लिए अपनी बारी का इन्तजार करें। भारत द्वारा विकसित टीके विश्व के सबसे सफल और सस्ते वैक्सीन हंै। इस टीकाकरण अभियान की शुरुआत से और सबके सफल प्रयासों से उत्तर प्रदेश सहित पूरा देश इस महामारी पर विजय प्राप्त करने में सफल होगा

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन के लिए निर्धारित प्रक्रिया का पूरा पालन किया जाएगा। प्रथम चरण में कोरोना वाॅरियर्स, डाॅक्टर्स, नर्स, पैरामेडिक्स का टीकाकरण होगा। इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स जिनमें पुलिसकर्मी, स्वच्छता कर्मी, राजस्व कर्मी इत्यादि शामिल हैं, का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा। इसके उपरान्त 50 वर्ष से ऊपर के ऐसे लोगों का टीकाकरण किया जाएगा, जो कोमाॅर्बिडिटी का शिकार हैं। कोरोना का प्रथम वैक्सीन लगने के उपरान्त दूसरा वैक्सीन 28 दिन के बाद लगाया जाएगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के सम्बन्ध में सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। टीकाकरण अभियान के सुचारु संचालन के उद्देश्य से कई ड्राई रन भी किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान की शुरुआत के बाद भी लोगों को अभी पूरी सावधानी बरतनी होगी। कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन पूर्ववत करना होगा। प्रधानमंत्री जी द्वारा दिये गये ‘दो गज दूरी मास्क है जरूरी’ के मंत्र के साथ, समय-समय पर हाथ धोना, सैनिटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग, भीड़ इकट्ठी न होने देना इन मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करना होगा। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जनता को जागरूक करने के लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ, पब्लिक एड्रेस सिस्टम का निरन्तर उपयोग करना होगा। काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस सिस्टम को भी प्रभावी बनाए रखना होगा। हर हाल में कोरोना की चेन को तोड़ना होगा। सभी कोरोना प्रोटोकाॅल पूर्ववत लागू रहेंगे। 

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं बलरामपुर चिकित्सालय के डाॅक्टर एवं नर्स इत्यादि मौजूद थे।

---------

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---