ब्रेकिंग::--👉👉पूरे प्रदेश में ड्राई रन को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के निर्देश::==पढें विस्तार से खबर


ख्यमंत्री ने डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) चिकित्सालय में कोरोना वैक्सीन के ड्राई रन का निरीक्षण किया


मुख्यमंत्री ने कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के सम्बन्ध में जनपदों की व्यवस्थाओं की वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की, कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य प्रत्येक दशा में भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किया जाए

मुख्यमंत्री ने जनपद मेरठ, सिद्धार्थनगर, वाराणसी, गोरखपुर तथा लखनऊ के जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से संवाद किया, वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में की गई व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की, कोविड-19 के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरती जाए: मुख्यमंत्री

लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में निरन्तर जागरूक किया जाए, कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखें, इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से कार्यशील रखा जाए, काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित करें

मेडिकल टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से किया जाए, यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फायर सेफ्टी के प्रबन्धों का सत्यापन कार्य प्राथमिकता पर सम्पन्न हो, एम्बुलेंस सेवाओं को मण्डल स्तर पर विकेन्द्रित करते हुए इनका सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए

लखनऊ: 11 जनवरी, 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां डाॅ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) चिकित्सालय का भ्रमण कर कोरोना वैक्सीन के सम्बन्ध में वहां संचालित किए जा रहे ड्राई रन का निरीक्षण किया। सिविल अस्पताल में ड्राई रन के अन्तर्गत संचालित की जा रही गतिविधियों पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने पूरे प्रदेश में ड्राई रन को सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

निरीक्षण के पश्चात मुख्यमंत्री जी ने आगामी 16 जनवरी, 2021 से प्रदेश में प्रारम्भ किए जा रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के सम्बन्ध में जनपदों की व्यवस्थाओं की लोक भवन में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में सभी के सहयोग से कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में जिस प्रकार सफलता मिली है, उसी प्रकार कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित किया जाए। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य प्रत्येक दशा में भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुरूप संचालित किए जाने के निर्देश दिए हैं।  

वैक्सीनेशन कार्य को अन्तर्विभागीय समन्वय के माध्यम से किए जाने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन अभियान में नोडल विभाग के रूप में कार्य करेगा। वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री जी ने जनपद मेरठ, सिद्धार्थनगर, वाराणसी, गोरखपुर तथा लखनऊ के जिलाधिकारियों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों से संवाद स्थापित कर उनके जनपद में वैक्सीन की कोल्ड चेन, स्टोरेज, ट्रांसपोर्टेशन तथा कार्मिकों के प्रशिक्षण, वैक्सीनेशन बूथ की स्थापना आदि कार्यों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की।

एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज संचालित किया जा रहा ड्राई रन, कोविड वैक्सीनेशन अभियान में अत्यन्त उपयोगी सिद्ध होगा। बैठक में अवगत कराया गया कि प्रदेश के 1500 स्थानों पर कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राई रन किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर सावधानी बरती जाए। लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में निरन्तर जागरूक किया जाए। कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखा जाए। उन्होंने जनपद स्तर पर स्थापित इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी सक्रियता से कार्यशील रखने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी ने कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम की उपयोगी भूमिका पर बल देते हुए इन कार्यों को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी सरकारी तथा निजी अस्पतालों में फायर सेफ्टी के प्रबन्धों का सत्यापन कार्य प्राथमिकता पर सम्पन्न हो। उन्होंने ‘102’ तथा ‘108’ एम्बुलेंस सेवाओं को और बेहतर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए एम्बुलेंस सेवाओं को मण्डल स्तर पर विकेन्द्रित करते हुए इनका सुचारु संचालन सुनिश्चित किया जाए।

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, प्रमुख सचिव पशुपालन श्री भुवनेश कुमार, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---