अलीगढ़ ब्रेकिंग ::--👉👉प्रथम महिला देहदानी की स्मृति में लगा देहदान जागरूकता शिविर:::==पढें विस्तार से खबर


प्रथम महिला देहदानी राधा देवी की स्मृति में लगे देहदान कर्तव्य संस्था के कैंप में सैकड़ों लोगों ने लिया नेत्रदान का संकल्प , देहदान के लिए भी किया जागरूक 


अलीगढ़ 03 जनवरी 2021

महानगर अलीगढ़ की प्रथम महिला देहदानी राधा देवी की  स्मृति में प्रथम पुण्यतिथि पर रविवार को देहदान कर्तव्य संस्था द्वारा अचल ताल अलीगढ़ स्थित बजरंग मार्केट पर नेत्रदान और देहदान के प्रति जागरूकता अभियान के अंतर्गत एक कैंप लगाया गया ।  इस कैंप में सैकड़ों लोगों ने नेत्रदान का संकल्प लेकर अपने-अपने फार्म भरे ।


वही सैकड़ों लोगों ने नेत्रदान व देहदान संबंधी बारीकियों को समझा ।

देहदान कर्तव्य संस्था के सदस्य भुवनेश वार्ष्णेय आधुनिक के अनुसार कैम्प से पूर्व परिवार के सदस्य संस्था के संरक्षक श्री राजाराम मित्र के सानिध्य में प्रातः 9:00 बजे नगला मसानी गौशाला पहुंचे वहां पर गौमाता की सेवा की एवं गौ माता को हरा चारा व दलिया का भोग लगाया गया । तदुपरांत प्रातः 10:00 पुण्य आत्मा ममतामयी करुणामयी माता महानगर की प्रथम देहदानी राधा देवी की पुण्य स्मृति में बजरंग मार्केट अचल ताल स्थित वाराह भगवान मंदिर में हवन किया गया । आकाशवाणी गायक पंडित हरीशंकर शर्मा ने वैदिक मंत्रोच्चार के मध्य हवन कार्यक्रम संपन्न कराया। 

 दोपहर 1:00 बजे से नेत्रदान एवं देहदान की जागरूकता के लिए बजरंग मार्केट  अचल ताल पर कैम्प लगाया गया।  कैम्प के शुभ अवसर पर देहदान कर्तव्य संस्था के अध्यक्ष डॉ एस के गौड़ ने कहा कि देहदान क्यों आवश्यक है? उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए शरीर की अत्यंत आवश्यकता होती है जिससे डॉक्टरी की पढ़ाई करनेवाले प्रशिक्षु  इंसान के शरीर को सही प्रकार से समझ कर उनका इलाज कर सकें । इसी पवित्र उद्देश्य को साथ लेकर देहदान कर्तव्य संस्था  कार्य कर रही है । डॉ एस के गौड़ ने आगे कहा कि देहदान करने से पूर्व परिवार के सदस्यों की सहमति आवश्यक है । अतः देहदानी के परिवार भी जागरूक होने चाहिए  ।

अब तक 170 से भी अधिक देहदानी हमारी संस्था की सदस्यता ग्रहण कर चुके हैं ।

 सचिव जयंत शर्मा ने कहा कि भारत में एक करोड़ से भी अधिक लोग अंधता का शिकार हैं । इनमें से अधिकतर लोग कॉर्निया मिल जाने पर सही हो सकते हैं । आपके द्वारा किए गए नेत्रदान से दो व्यक्तियों को आंखें मिल सकती हैं । इस रंगीन दुनिया को अपनी आंखों से देख सकता है । मृत्यु उपरांत अगर आप अमर होना चाहते हैं तो नेत्रदान व देहदान के लिए संकल्प अवश्य लें ।

संस्था उपाध्यक्ष डॉ आशा राठी ने कहा कि हमारी संस्था अब तक जे एन मेडिकल कॉलेज ,अलीगढ़ व आगरा के मेडिकल कॉलेज के लिए देहदान करा चुकी है । कई नेत्रदान भी देहदान कर्तव्य संस्था द्वारा कराए जा चुके हैं । संस्था की सदस्यता लगातार बढ़ रही है और जागरूकता भी बढ़ रही है ।

 देहदान कर्तव्य संस्था के मीडिया प्रभारी डॉ डी के वर्मा ने कहा कि हमारी संस्था के संरक्षक श्री राजाराम मित्र का सहयोग पूरी तरह से संस्था को मिलता रहता है ।आपकी धर्मपत्नी राधा देवी के देहदान से महानगर अलीगढ़ में देहदान के प्रति लोगों में जागरूकता आई है । आज परिवार के सभी सदस्यों ने नेत्रदान का संकल्प लेकर मील का पत्थर साबित किया है । 

देहदान कर्तव्य संस्था के कोषाध्यक्ष हितेश छावड़ा ने कहा कि जितनी संख्या में आज इस कैंप में लोगों ने नेत्रदान व देहदान के प्रति जागरूकता दिखाई है उससे प्रतीत होता है कि हमारी संस्था की इस मुहिम में सभी लोग जुड़ रहे हैं । 

इस अवसर पर रक्तवीर ठा0 अजय सिंह,  हैंडस फॉर हेल्प संस्था के अध्यक्ष डॉ सुनील कुमार,  विशाल वार्ष्णेय,  विवेक अग्रवाल , डॉ विश्वामित्र आर्य, महेश पाठक ने भी लोगों को जागरूक किया ।

इस अवसर पर मुख्य रुप से श्री राजाराम मित्र , कामेश्वर गर्ग,  रतन कुमार मित्र महानगर कार्यवाह , अटल कुमार वार्ष्णेय , नितिन कुमार वार्ष्णेय,  विपिन राजा जी,  भुवनेश वार्ष्णेय आधुनिक , रंजन वार्ष्णेय , अभिनव वार्ष्णेय , वरुण वार्ष्णेय , कल्प  वार्ष्णेय,  सक्षम वार्ष्णेय,  तनिष्क वार्ष्णेय , प्रांजुल वार्ष्णेय, मोहित वार्ष्णेय , लव वार्ष्णेय आदि उपस्थित थे ।



 

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

लखनऊ में अजीब मामला ::--👉*व्यापारी के बेटे ने 7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाया कालगर्ल, कालगर्ल निकली कोरोना पॉजिटिव, लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान कालगर्ल की मौत*::==पढें विस्तार से खबर -