:ब्रेकिंग:--मुख्यमंत्री ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी तथा उ0प्र0 के पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा के निधन पर शोक व्यक्त किया::==पढें विस्तार से खबर


मुख्यमंत्री ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी तथा उ0प्र0 के 
पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा के निधन पर शोक व्यक्त 
करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त कीं

श्री प्रणब मुखर्जी का राजनीतिक जीवन एवं व्यक्तित्व सबके 
लिए प्रेरणादायी, श्री मोतीलाल वोरा एक सरल और मृदुभाषी नेता थे पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के 
निधन से राष्ट्र की अपूरणीय क्षति हुई हैभारतीय राजनीति में श्री प्रणब मुखर्जी का दीर्घ अनुभव और योगदान रहा, वे एक वरिष्ठ और सर्वमान्य राजनेता थे

पत्रकारिता और समाजसेवा करते हुए श्री मोतीलाल वोरा ने 
राजनीति में प्रवेश किया और अपनी अलग पहचान बनायी
मुख्यमंत्री ने पूर्व विधान सभा सदस्यों के निधन पर शोक 
व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की

मुख्यमंत्री ने कोरोना काल के दौरान इस महामारी से जंग में दिवंगत कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति शोक व्यक्त कियामुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड में ग्लेशियर फटने की 
घटना में जनहानि पर भी गहरा शोक व्यक्त किया
लखनऊ: 19 फरवरी, 2021
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की हैं। आज विधान सभा में शोक प्रस्ताव के दौरान विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति एवं भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के निधन से राष्ट्र की अपूरणीय क्षति हुई है। भारतीय राजनीति में श्री प्रणब मुखर्जी का दीर्घ अनुभव और योगदान रहा है। वे एक वरिष्ठ और सर्वमान्य राजनेता थे। उन्होंने केन्द्रीय मंत्रिमण्डल में विभिन्न महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी निभायी। 
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राष्ट्रपति के रूप में श्री प्रणब मुखर्जी ने अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन करते हुए इस पद की गरिमा और सम्मान में वृद्धि की। वे सार्वजनिक जीवन में स्पष्टवादी, सौम्य एवं मुदृभाषी नेता थे। उन्हें जटिल राष्ट्रीय मुद्दों पर आम सहमति बनाने व समन्वय स्थापित करने में व्यापक कूटनीतिक अनुभव प्राप्त था। इसके साथ ही, अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्धों एवं वित्तीय मामलों की भी गहरी समझ थी। वे विश्व बैंक, अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, एशियाई विकास बैंक सहित विभिन्न महत्वपूर्ण अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं के संचालक मण्डल के सदस्य रहे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि श्री मुखर्जी ने विभिन्न उच्च पदों पर रहते हुए अपने दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया। एक सांसद, मंत्री और अनुभवी नेता के रूप में उनका संसदीय मूल्यों एवं परम्पराओं को मजबूत करने में महत्वपूर्ण योगदान रहा। श्री प्रणब मुखर्जी का राजनीतिक जीवन एवं व्यक्तित्व सबके लिए प्रेरणादायी है। उनके निधन से भारतीय राजनीति की अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री जी ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए श्री मुखर्जी के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। 
मुख्यमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि श्री वोरा एक सरल और मृदुभाषी नेता थे। पत्रकारिता और समाजसेवा करते हुए उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया और अपनी अलग पहचान बनायी। वे 02 बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। वे लोक सभा तथा राज्य सभा के सदस्य भी रहे। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री पद के दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन भी किया। उनके निधन से देश ने एक कुशल राजनीतिज्ञ और समाजसेवी खोया है। मुख्यमंत्री जी ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए श्री वोरा के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की। 
मुख्यमंत्री जी ने पूर्व विधान सभा सदस्यों के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति भी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इन दिवंगत सदस्यों ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में अपने-अपने क्षेत्रों का भली-भांति प्रतिनिधित्व किया। जनसमस्याओं के मुद्दों को सदन में उठाया और लोगों की समस्याओं का समाधान निकाला। दिवंगत पूर्व सदस्यों ने लोकतंात्रिक मूल्यों का भली-भांति निर्वहन किया। 
मुख्यमंत्री जी ने कोरोना काल के दौरान इस महामारी से जंग में दिवंगत कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी जान की परवाह किए बगैर इस महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई को मजबूती से आगे बढ़ाने में अपना योगदान दिया। मुख्यमंत्री जी ने दिवगंत कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए इनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की। 
मुख्यमंत्री जी ने उत्तराखण्ड में ग्लेशियर फटने की घटना में जनहानि पर भी गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि घटना स्थल पर चल रहे विभिन्न प्रोजेक्ट्स में उत्तर प्रदेश के काफी लोग काम कर रहे थे। उन्होंने घटना में मृत लोगों के प्रति शोक व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना भी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि घटना में लापता लोगों का पता लगाने के लिए एक मंत्री समूह बनाया गया है, जो लगातार उत्तराखण्ड सरकार और प्रशासन के सम्पर्क में है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उत्तर प्रदेश के पीड़ित परिवारों को राहत देने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। 
-------

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---