:करोना को हराने वाले एडवोकेट की आप बीती :--👉👉नकारात्मक सोच से बहुत दूर रक्ख कर सकारात्मक सोच और होसले से जीती करोना से जंग::= सैय्यद मासूम रज़ा, एडवोकेट।

 

मेंने सकारात्मक सोच और होसले से जीती करोना से जंग और अपने आपको नकारात्मक सोच से बहुत दूर रक्खा::-- सैय्यद मासूम रज़ा, एडवोकेट।

लखनऊ : सल्तनत मंजिल, हामिद रोड, निकट सिटी स्टेशन, लखनऊ के रहने वाले नवाबजादा सैयद मासूम रज़ा, एडवोकेट ने कहा कहा की उनकी बिटिया इंजीनियर हया फातिमा जो अमेरिका में जॉब करती है छुट्टी में परिवार वालों से मिलने लखनऊ आई l

 उसने अपने वालिद नवाबजादा सैय्यद मासूम रज़ा से करोना टेस्ट कराने की दरखास्त की। वह बिटिया को लेकर किंग जॉर्ज मेडिकल युनिवर्सिटी,  लखनऊ के कोविद टेस्ट सेंटर जाकर बिटिया और अपना टेस्ट कराया।  

रात में ऑनलाइन रिपोर्ट में दोनो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई । जब ये खबर नवाबजादा रज़ा ने अपनी पत्नी बेगम नसीमा रज़ा और घर के दूसरे लोगों को दी तो सब बेहद परेशान हो गये मगर सकारातम सोच से करोना को हराने में लग गएं।  

मैं और मेरी बिटिया होम आइसोलेशन में चले गए और होम आइसोलेशन के सभी मानकों का पालन किया, डॉक्टर से सलाह भी ली गई और सभी आवश्यक दवाई की सुविधाएं हासिल की गई और कॉविड हेल्प लाइन ने जरूरी दवाइयां मुहैया कराई। 

आइसोलेशन के दौरान गरारा किया, भाप लिया और काढ़ा नीयमित रूप से लिया और अपने आपको  नकारात्मक सोच से बहुत दूर रक्खा और खुश रह कर मेरी बिटिया और मैनें अंत में कोरोना से जंग जीती और उसे हराया। 

एडवोकेट रज़ा ने बताया कि मेरी पत्नी और घर वालों ने बेहद खिदमत की और खयाल रक्खा। सभी के प्यार और सहयोग से जीत हासिल की और हमने मानसिक रूप से अपने आपको मज़बूत रक्खा और करोना को हराया l

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

लखनऊ में अजीब मामला ::--👉*व्यापारी के बेटे ने 7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाया कालगर्ल, कालगर्ल निकली कोरोना पॉजिटिव, लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान कालगर्ल की मौत*::==पढें विस्तार से खबर -