:ब्रेकिंग:--👉👉उत्तर प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव ग्रह अवनीश कुमार अवस्थी जी के पिताजी का निधन अवस्थी परिवार ने दी भावभीनी श्रद्धांजलि ::==पढें पूरी खबर

 

हमारे पूज्य पिताजी श्री आदित्य कुमार अवस्थी आज ब्रह्ममुहूर्त में गोलोकधाम सिधार गए। जीवन भर सबके लिए सोचने वाले, करने वाले अत्यंत सरल सौम्य मृदुभाषी हमारे पिता को परमपिता ने अपने समीप बुला लिया।

आई टी बी एच यू बनारस से मेटलर्जी के इंजीनियर और जर्मनी में प्रशिक्षित हमारे पिताजी उस पीढ़ी के नायक थे जिस पीढ़ी ने स्वाधीन भारत की दृढ़ आधारशिला रखी। स्टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (SAIL) की सेवा में 

उन्होंने अपना जीवन अर्पित कर दिया। राउरकेला बोकारो भिलाई के संयंत्र में लोहे की ढलाई यानी कास्टिंग में पिताजी की दक्षता अद्वितीय थी। 

वे रेल इंजन और बोगी की ढलाई के लिए दूर दूर से परामर्श के लिए बुलाये जाते थे। अंतिम समय तक अपना काम स्वयं करने वाले कर्मठ पिताजी कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन के आधार पर आजीवन चले। परिवार के वटवृक्ष थे, शांत गंभीर संयत! आज उनकी शीतल छाया सदा के लिए ब्रह्माण्ड में विलीन हो गई। संलग्न छवि में पिताजी हमारे सहायक रवि के पुत्र आकाश को पढ़ाते हुए दिखाई दे रहे हैं, यह उनके जीवन के एक एक पल की सार्थकता का प्रमाण है। 

पूज्य पिताजी सदगति प्राप्त करें, यही महादेव से प्रार्थना है। इस कष्ट के समय अम्मा श्रद्धेया ऊषा अवस्थी जी हम सबका पुण्यसंबल हैं आश्रय हैं। भवानी अम्मा को यह कष्ट सहने की शक्ति प्रदान करें।

🙏🙏🙏

 ॐ शांति शांति शांति


अवनीश अवस्थी पुत्र                मनीष अवस्थी पुत्र 

मालिनी अवस्थी पुत्रवधु            मनाली अवस्थी पुत्रवधु

                        आशीष अवस्थी पुत्र
                       जूही अवस्थी पुत्रवधु

                             पौत्र पौत्री 
                          अनन्या केशव 
                         अद्वितीय गायत्री 
                       श्रिया अनुग्रह अक्षत

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

लखनऊ में अजीब मामला ::--👉*व्यापारी के बेटे ने 7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाया कालगर्ल, कालगर्ल निकली कोरोना पॉजिटिव, लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान कालगर्ल की मौत*::==पढें विस्तार से खबर -