खास खबर में पढें::--👉👉*आज तक ऐसी कोई मंजिल नहीं बनी ,जहां तक जाने का कोई रास्ता ना हो ::==सत्येंद्र यादव*

 यदि मनुष्य ठान ले तो कोई भी मंजिल ऐसी नहीं बनी है जहां जाने के लिए रास्ता ना  हो आवश्यकता आविष्कार की जननी होती है यदि मनुष्य को किसी प्रकार की आवश्यकता पड़ जाए तो वह अविष्कार भी कर सकता है 

 अपने लक्ष्य की प्राप्ति भी कर सकता है आज पूरे भारत में मात्र 15 महीने में ही भारतीय जन सेवा मिशन सामाजिक संगठन का नाम लोगों के कानों तक  गजने लगा है 

साथियों यह वक्त की मांग है की हिंद के सभी लोगों को इकट्ठा होकर के भारतीय जन सेवा मिशन सामाजिक संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजीनियर लख्मी चंद यादव जी का साथ देना चाहिए क्योंकि इंजीनियर लख्मी चंद यादव जी जैसे लोग भारत के सरजमी पर कभी-कभी जन्म लिया करते हैं l

आज एक अकेला व्यक्ति सर्व समाज की लड़ाई को मजबूती के साथ लड़ने का काम कर  रहे है दोस्तों मैं आप सभी लोगों से निवेदन करूंगा कि पूरे देश की मांग है की आप लोग भारतीय जन सेवा मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष लख्मीचंद  यादव जी का साथ दीजिए जो व्यक्ति अकेले ही सर्व समाज के जनसेवा का बीड़ा उठाकर के लोगों का लोग को न्याय दिलाने का काम कर रहे हैं l

आप सभी लोग भी उनके इस महान कार्य में अपने हाथ को आगे बढ़ाते हुए उनका साथ देने का काम करें खासतौर से यदुवंश के जितने भी साथी हैं उन से हमारा निवेदन है कि आप लोग तो हर तरह से सक्रिय हैं l

आप लोग और मजबूती से उनका साथ दीजिए क्योंकि परिवार में जब कोई आगे बढ़ता है तो परिवार के लोग मजबूती के साथ उनका साथ देते हैं तब वह व्यक्ति एक नया इतिहास  रचकर के अपने परिवार का नाम रोशन करता है 

ठीक उसी प्रकार से यदुवंश के लोग यदि मजबूती के साथ साथ देंगे तो वह दिन दूर नहीं है जब पूरे हिंदुस्तान में यदुवंश का परचम लहराएगा और हर व्यक्ति यदुवंश के नाम से प्रभावित होगा। 

 *संघर्ष जनसेवा लक्ष्य हमारा*

*सत्येंद्र यादव प्रदेश अध्यक्ष भारतीय जन सेवा मिशन*

Popular posts from this blog

:ब्रेकिंग:--👉👉👉मुख्यमंत्री ने निर्माण कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराते हुए गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिये:::==पढें विस्तार से खबर

:ब्रेकिंग:--👉🏻👉🏻👉🏻विश्वविद्यालयों से सम्बद्ध डिग्री कालेजों की संख्या निर्धारित की जाये::===श्रीमती आनंदीबेन पटेल

ब्रेकिंग:--👉👉नैक के मानकों के अनुरूप विश्वविद्यालय के मूल्यांकन को शत्-प्रतिशत बनायें::==श्रीमती आनंदीबेन पटेल