पूर्व मंत्री वर्तमान सपा एमएलसी श्री नरेंद्र सिंह भाटी जी को बीजेपी में लेने के लिये नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह जी, राजनाथ सिंह जी, व योगी आदित्यनाथ जी, जुटे हुए हैं


गौतमबुद्ध नगर में सपा बसपा लोकसभा प्रत्यासी सतबीर गुजर को चुनाव जीताना है तो पूर्व मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह भाटी जी को बीजेपी में जाने से हर हाल में रोकना होगा गुजर भाईयो।


भाजपा ने लोक सभा चुनाव 2014 जीतने के बाद पूर्वांचल के यदुवंशी शेर पूर्व बीजेपी सांसद श्री रमाकांत यादव को किनारे कर दिया था ओर 2019 में रमाकांत यादव जी ने भाजपा को किनारे लगा दिया है...आजमगढ़ में हालात यह है बीजेपी कि अखिलेश यादव के विरुद्ध ढंग का कंडीडेट तक का नही उतार पा रही है भाजपा.. देश-राज्य की सत्ता व तीन तीन मुख्यमंत्री के रहते हुये भाजपा की ये दुर्गति सिर्फ इस लिये है क्योकि 2014 के बाद रमाकांत यादव को जो सम्मान मिलना चाहिए था वो नही मिला..


श्री रमाकांत यादव ने पूरी लॉयलिटी के साथ मुलायम सिंह जी से चुनाव लड़ा और उन्हने श्री मुलायम सिंह यादव जी को जबरदस्त टक्कर दी.. ये पहला चुनाव था जिसमे श्री मुलायम सिंह यादव जी को लोकसभा चुनाव में अपनी इज्जत बचानी भारी पड़ गयी थी.. उसके बदले भाजपा से क्या मिला रमाकांत यादव जी को ?
मोदी सरकार में आधा दर्जन हारे हुए सांसद कैबिनेट मन्त्री बने थे देश के सबसे बड़े जनाधार वाले नेता को कड़ी टक्कर देने वाले नेता को मंत्रालय क्यो नही दिया गया?
क्या ये यादव होने की सजा नही थी?


अब यादव संचालित पार्टी के रास्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ चुनाव न लड़कर रमाकांत यादव जी ने होने का बड़ा फर्ज निभाया है रमाकांत यादव ने... खास कर तब जब भाजपा ने यादव होने मात्र की वजह से उनका तिरस्कार किया 5 साल.. राजनीति में जो बोओगे वही काटोगे.. सीधी बात तो यह है कि अहीरों ने अखाड़े से बाहर ही बिजेपी को चारों कोने चित कर दिया है भाजपा को.. अब लड़ाई का अभिनय मात्र हो रहा है..


पूर्व सांसद रमाकांत यादव जी ने यादव होने का अपना बड़ा फर्ज निभा दिया है।


अब भाजपा वाले धनबल व बाहुबल का प्रयोग कर सपा बसपा महागठबंधन को बड़ी घात लगाने की फिराक में जुटे हुए हैं जो सपा बसपा के लिये बड़ी मुश्किलें भी खड़ी कर सकते हैं अगर सपा बसपा हाई कमान समय रहते नही सम्भले।


पस्चिमी यूपी के कद्दावर सपा नेता सपा के पस्चिमी यूपी में सबसे ताकतवर जमीनी नेता गुजर सम्राट पूर्व मंत्री वर्तमान सपा एमएलसी श्री नरेंद्र सिंह भाटी जी को बीजेपी में लेने के लिये नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह जी, राजनाथ सिंह जी, व योगी आदित्यनाथ जी, जुटे हुए हैं किसी भी वक्त नरेन्द्र भाटी जी बिजेपी जॉइन कर सकते हैं।


मेरा सपा बसपा हाई कमान व गुजर समाज यादव समाज व जिला नोएडा समाजवादी पार्टी के समस्त सीनियर नेताओ से भी विनम्र आग्रह है किसी भी कीमत पर नरेन्द्र भाटी जी को बीजेपी में जाने से रोका जाये नही तो पस्चिमी की ये तीन लोकसभा सीट बुलन्दशहर, गौतमबुद्ध नगर, ग़ाज़ियाबाद, चली जायेंगी बीजेपी की झोली में।


पूर्व मंत्री श्री नरेन्द्र भाटी जी को कमजोर समझना हम सभी की बहुत बड़ी भूल होगी।


दोस्तो जो नेता हर रोज बिना किसी से कुछ लिये ही निस्वार्थ 200 से 300 लोगो की फर्याद सुनता हो ओर उनकी समस्याओं को हल करता व करवाता हो उस नेता का जनता में कितना बड़ा जनाधार होगा आप सभी ये बात अच्छे से समझ सकते हैं उनके चले जाने से पस्चिमी यूपी में सच मे हड़कम्प मच जायेगा समाजवादी पार्टी टूट कर बिखर जायेगी ऐसा कोई भी तीनो जिलों में ताकतवर जमीनी नेता नही जो नरेंद्र भाटी जी के आदेश का बखूबी पालन न करे ओर लाखो लोग उनके साथ चले जायेंगे क्योकि नरेन्द्र भाटी जी ने लाखो लोगो से भी ज्यादा लोगो के बड़े बड़े काम किये हैं उनके दर्द को भी सुना है इस लिये नरेन्द्र भाटी जी को हर हाल में बीजेपी में जाने से रोकना होगा नही तो गयी भेष पानी मे हमारी पकी पकाई फसल को कोई और ही काटेगा।


अगर बीजेपी वाले यूपी के हर छेत्र से सपा से ओर बसपा से नरेन्द्र भाटी जी जैसे धनाड्य कद्दावर जमीनी नेताओ को तोड़ लेगी तो सपा पर क्या झुनझुना बचेगा।


ये फेसबुक वाले नेता ओर व्हाट्सएप वाले नेता ओर पदों वाले नेता जो घूम व बोल रहे हैं ये अपने अपने बूथो पर चार वोट नही डलवा पायेंगे ये कड़वा सच है प्रोफेसर रामगोपाल यादव जी व अखिलेश यादव जी को हमारी बातो पर गम्भीरता से विचार विमर्श भी करना होगा व एक्शन भी लेना होगा नही तो चुनाव परिणाम अच्छे नही आयेंगे।


,यादव, गुजर,दलित, अल्पसंख्यक, विरोधी है बीजेपी आदरणीय मंत्री जी इस बात का थोड़ा सा आप भी ख्याल रखे बीजेपी में जाने से पहले


समाजसेवी इंजीनियर लख्मीचंद यादव।


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---