इतिहास याद रखेगा इस दिन को जब पूरा संसार डगमगा रहा था तब हिंदुस्तान जगमगा रहा था::--डा. जगदीश गाँधी


लखनऊ 5 अप्रेल2020


         *प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर अमल करते हुए सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने सपरिवार रात्रि 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें आॅफ कर अपने घर के सामने दीपक की रोशनी के मध्यम एकता की भावना  प्रदर्शित की ।* 


डा. गाँधी ने जोर देते हुए कहा कि सामूहिक उत्तरदायित्व का पालन करते हुए ही हम कोरोना से जंग जीत सकते हैं।


 *डा. गांधी* ने कहा कि कोरोना वायरस के कहर से आज दुनियाँ का कोई भी देश अछूता नहीं रह गया है। यह तबाही अगर यही नहीं रूकी तो शायद इसकी त्रासदी द्वितीय विश्व युद्ध से भी भयानक होगी।


वास्तव में, इस बार दुनियाँ का मुकाबला किसी सामने दिखने वाले दुश्मन से नहीं है बल्कि उस अदृश्य वायरस से है, जिसको अभी तक देखा-परखा नहीं गया है, परन्तु वह अंधेरा बनकर दुनिया का विनाश करने को तत्पर है। ऐसे खतरनाक अंधेरे से सर्वशक्तिमान परमात्मा की कृपा से ज्ञान, आध्यात्म, एकता व सामूहिकता की रोशनी से ही निपटा जा सकता है।



 
 


Popular posts from this blog

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.