ब्रेकिंग न्यूज :गौशालाओं में गौवंश हो रहे बदइंतजामी के शिकार:::==-- एनसीपी


गौवंशों को नहीं मिल पा रहा चारा और पानीः उमाशंकर



लखनऊ। 26/05/2020/।


राज्य में सरकार बनने के बाद से ही गायों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और उनकी देखभाल के लिए कई फैसले लिए गए, गोशालाएं बनवाने के निर्देश दिए गए और बजट में अलग से इसके लिए प्रावधान किया गया। लेकिन राज्य का शायद ही कोई ऐसा इलाका हो जहां से आए दिन गायों-बछड़ों के मरने की खबर न आती हो, वो भी भूख से मरने की। यह जानकारी देते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(एनसीपी) के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने बताया कि राज्य सरकार ने इसी साल सभी गांवों में गोशाला और शहरी इलाकों में पक्के आश्रय स्थल बनवाने के निर्देश दिए थे लेकिन गर्मी आते ही ज्यादातर आश्रय स्थलों में गायें चारे और पानी के अभाव में दम तोड़ दे रही हैं ।


श्री यादव ने बताया कि उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड से लेकर सभी जिलों में गौवशं पशु वहां के किसानों के लिए पहले सी गंभीर समस्या बने हुए थे, लेकिन अब ये स्थिति और भयावह हो गई है मई महीने में गर्मी के विकराल रूप धरने और गोशालाओं में बदइंतजामी के चलते अचानक कई जगहों से गायों के मरने की आ रही हैं आगरा, मथुरा, कन्नौज, कानपुर, बांदा, हमीरपुर, महोबा के अलावा पूर्वांचल की भी कई गोशालाओं में गाय-बछड़ों की मौत हो हो रही हैं।दरअसल, गोशालाएं ऐसी जगहों पर बनी हैं जहां पेड़ तक नहीं हैं और ऐसी स्थिति में दिन में गोशाला के भीतर भी उनका रहना मुश्किल होता है क्योंकि टिनशेड से भीतर गर्मी और बढ़ जाती है। इन गौशालाओं का बदइंतजामी का हाल ये हैं कि गौवंशो को भर पेट चारे की कौन कहे पीने का पानी भी बड़ी मुश्किल से नसीब हो रहा है।


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---