:ब्रेकिंग:--👉👉मुख्यमंत्री ने चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव को पूरी भव्यता के साथ आयोजित किए जाने के दिए निर्देश:::=विस्तार से खबर पढ़ेंगे

मुख्यमंत्री ने चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव, गोरखपुर के मुख्य आयोजन सहित पूरे प्रदेश में इस कार्यक्रम के सम्बन्ध में की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा की शताब्दी महोत्सव का शुभारम्भ प्रधानमंत्री जी द्वारा 04 फरवरी, 2021 को वर्चुअल माध्यम से किया जाएगा



प्रधानमंत्री जी चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष पर एक डाक टिकट जारी करेंगे


चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव कार्यक्रम से जनप्रतिनिधिगण 

सहित शहीदों व स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजन जुड़ेंगे


गोरखपुर में शताब्दी महोत्सव के शुभारम्भ सम्बन्धित कार्यक्रमों को 

04 व 05 फरवरी, 2021 को संचालित किए जाने के निर्देश


प्रत्येक जनपद में शहीद स्थलों, ग्रामों, स्मारकों पर पूरे वर्ष शहीदों, 

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व घटनाओं से सम्बन्धित तिथियों 

को चिन्ह्ति करते हुए कार्यक्रम संचालित किए जाएं


शहीद स्थलों, शहीद ग्रामों, स्मारकों पर सप्ताह में एक दिन 

पुलिस बैण्ड द्वारा देश भक्ति की रचनाओं पर आधारित प्रस्तुति की जाए


शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को सम्मानित किया जाए


03, 04 व 05 फरवरी, 2021 को पूरे प्रदेश 

में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए


कार्यक्रमों के माध्यम से स्वच्छता, स्वदेशी व 

स्वावलम्बन का सन्देश जन-जन तक पहुंचे


शहीद स्थलों, शहीद ग्रामों, स्मारकों आदि की साफ-सफाई, 

रंगाई-पुताई, प्रकाश व्यवस्था, कनेक्टिविटी, जीर्णोद्धार, 

सौन्दर्यीकरण आदि की समुचित व्यवस्था किए जाने के निर्देश


बेसिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव के 

सम्बन्ध में वर्ष पर्यन्त चलने वाले कार्यक्रमों की रूप-रेखा बनाकर उन्हें संचालित करे

लखनऊ: 29 जनवरी, 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव को पूरी भव्यता के साथ आयोजित किए जाने के निर्देश दिए हैं। इस शताब्दी महोत्सव का शुभारम्भ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 04 फरवरी, 2021 को वर्चुअल माध्यम से किया जाएगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री जी चौरी-चौरा शताब्दी वर्ष पर एक डाक टिकट जारी करेंगे। चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव कार्यक्रम से जनप्रतिनिधिगण सहित शहीदों व स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजन भी जुड़ेंगे। सभी जनपद के स्कूलों व शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थी तथा अन्य नागरिकगण भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। इन कार्यक्रमों का सजीव प्रसारण भी किया जाएगा। 

मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव, गोरखपुर के मुख्य आयोजन सहित पूरे प्रदेश में इस कार्यक्रम के सम्बन्ध में की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर गोरखपुर के मण्डलायुक्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े हुए थे। मुख्यमंत्री जी ने गोरखपुर में चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव के शुभारम्भ की तैयारियों की जानकारी लेते हुए सम्बन्धित कार्यक्रमों को 04 व 05 फरवरी, 2021 को संचालित किए जाने के निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री जी ने शताब्दी महोत्सव के शुभारम्भ सहित वर्ष पर्यन्त चलने वाले आयोजनों के सम्बन्ध में निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक जनपद में शहीद स्थलों, ग्रामों, स्मारकों पर पूरे वर्ष शहीदों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व घटनाओं से सम्बन्धित तिथियों को चिन्ह्ति करते हुए कार्यक्रम संचालित किए जाएं। शहीद स्थलों, शहीद ग्रामों, स्मारकों पर सप्ताह में एक दिन पुलिस बैण्ड द्वारा देश भक्ति की रचनाओं पर आधारित प्रस्तुति की जाए। उन्होंने कहा कि शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को सम्मानित किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 04 फरवरी, 2021 को प्रदेश के सभी शहीद स्थलों, स्मारकों व ग्रामों में सायं दीप प्रज्ज्वलन किया जाए तथा देश भक्ति की भावना पर आधारित कवि सम्मेलन आदि आयोजित किए जाएं। इन कवि सम्मेलनों में स्थानीय कवियों को प्रधानता दी जाए। उन्होंने कहा कि अन्तर्विभागीय समन्वय करते हुए कार्यक्रमों का संचालन हो। प्रातः 10 बजे समवेत स्वर में ‘वन्दे मातरम’ का गायन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 03, 04 व 05 फरवरी, 2021 को पूरे प्रदेश में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि कार्यक्रमों के माध्यम से स्वच्छता, स्वदेशी व स्वावलम्बन का सन्देश जन-जन तक पहुंचे। 

मुख्यमंत्री जी ने ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज तथा नगर विकास विभाग को शहीद स्थलों, शहीद ग्रामों, स्मारकों आदि की साफ-सफाई, रंगाई-पुताई, प्रकाश व्यवस्था, कनेक्टिविटी, जीर्णोद्धार, सौन्दर्यीकरण आदि की समुचित व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बेसिक, माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव के सम्बन्ध में वर्ष पर्यन्त चलने वाले कार्यक्रमों की रूप-रेखा बनाकर उन्हें संचालित करे। स्वाधीनता आन्दोलन के सम्बन्ध में विशिष्ट शोध कार्य किया जाए। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लोक गायन, लोक परम्परा और लोक मान्यता को दृष्टिगत रखते हुए कार्यक्रमों का संचालन हो। अलग-अलग तिथियों पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित हों। निबन्ध लेखन, पेण्टिंग, क्विज़, सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी, वाद-विवाद आदि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाए। प्रदर्शनियां, पुस्तक मेला तथा अन्य कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएं। शहीदों व स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा इनसे सम्बन्धित स्थलों तथा स्वाधीनता आन्दोलन के सम्बन्ध में विभिन्न माध्यमों से लोगों को परिचित कराया जाए। सभी कार्यक्रमों में अधिक से अधिक जनसहभागिता सुनिश्चित की जाए। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सन् 1857 के स्वतंत्रता संग्राम से स्वातंत्र्य समर का शुभारम्भ हुआ। स्वाधीनता आन्दोलन में सन् 1922 की चौरी-चौरा की घटना सहित काकोरी एवं अन्य घटनाएं महत्वपूर्ण कड़ी बनीं। इन घटनाओं ने स्वतंत्रता आन्दोलन को दिशा देते हुए भारत को आजाद कराया। चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव लोगों में राष्ट्र भक्ति और देश प्रेम की भावना जागृत करने में सहायक होगा। इससे चौरी-चौरा की घटना तथा भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सम्बन्ध में समग्र जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री डॉ0 दिनेश शर्मा, संसदीय कार्य मंत्री श्री सुरेश खन्ना, पर्यटन व संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री सतीश चन्द्र द्विवेदी, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव नगर विकास श्री दीपक कुमार, प्रमुख सचिव संस्कृति श्री मुकेश मेश्राम, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, निदेशक सूचना एवं संस्कृति श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

--------

Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---