ब्रेकिंग::-👉सोनभद्र जनपद के खनिज मुहर्रिर को किया गया निलंबित::==पढें विस्तार से

प्रयागराज के  दो खनिज मुहर्रिर  व  सर्वेक्षक  के विरुद्ध   की गई  अनुशासनिक कार्यवाही ।


 लखनऊः 7 जनवरी 2021

निदेशक, भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग उत्तर प्रदेश, डा०रोशन जैकब द्वारा सोनभद्र के खनन विभाग के खनिज मुहर्रिर श्री ब्रह्मानंद तिवारी को कार्यों में अनियमितता के कारण निलंबित किया गया है ।इसके अलावा प्रयागराज के सर्वेक्षक  व खनिज मुहर्रिर श्री कुंदन कुमार व विनोद राजकमल  के विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही संस्थित की गई है तथा अधिरोपित आरोपों की जांच कराई जा रही है।

भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग उत्तर प्रदेश से प्राप्त जानकारी के अनुसार उप जिलाधिकारी ओबरा द्वारा पकड़े गए ओवरलोड ट्रकों को ब्रह्मानंद तिवारी खनिज  मुहर्रिर को संबंधित थाना में  सीज करने हेतु निर्देशित किया गया ,परंतु ब्रह्मानंद तिवारी ने  दुरभि  सन्धि कर उक्त वाहन को संबंधित थाना में  सीज न कर वाहन को छोड़ दिया गया तथा उसके स्थान पर अन्य वाहन को बंद कराया गया ।इस प्रकार ब्रह्मानंद तिवारी द्वारा ओवरलोड वाहनों से सांठगांठ कर जनपद के राजस्व की क्षति कारित किए जाने के कारण   ब्रह्मानंद तिवारी को दोषी पाए जाने पर उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई की संस्थित की गई तथा तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय लखनऊ में संबद्ध कर दिया गया है।

  जनपद प्रयागराज में अवैध खनन परिवहन एवं और लोडिंग ट्रकों की सघन जांच के दौरान थाना मेजा द्वारा 16 ट्रैक्टर ट्राली बालू लदे वाहनों को पकडा़ गया था ।क्वेरी कार्यालय प्रयागराज में तैनात रहे योगेश शुक्ला सर्वेक्षक, विनोद राजकमल व कुन्दन कुमार ,खनिज  मोहर्रिर द्वारा 16 वाहनों में से 12 वाहनों के विरूद्ध कार्यवाही की गई ,अन्य वाहनों के विरुद्ध विधिक कार्यवाही नहीं किए जाने के कारण इन तीनों ही कार्मिकों को दोषी पाया गया ।

प्रयागराज की आख्या के आधार पर  , निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग द्वारा इनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई संस्थित कर अधिरोपित आरोपों की जांच  करायी जा रही है। 

 लखनऊ में बिना रेलवे के वर्क आर्डर के आधार पर मिट्टी की अधिक मात्रा की अनुज्ञा जारी की गई ।जनपद के  खान अधिकारी द्वारा क्षेत्र का भौतिक सत्यापन न करते हुए आदेशों का उल्लंघन किया गया तथा मिट्टी के परिवहन को  ई-एम० एम०- 11 से लिंक नहीं करने के कारण खान अधिकारी लखनऊ से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

  


Popular posts from this blog

अपनी निडरता और क्षत्रिय वंश के कारण की यदुवंशीयों का नाम 'अहीर' यादव.

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के नियमित, संविदा, और सेवा प्रदाताओं के कर्मचारियों सहित सभी 60 हजार कर्मचारियों को अप्रैल माह का पूर्ण वेतन और मानदेय दिया जाएगा:::~~डॉ राजशेखर प्रबन्ध निदेशक

ब्रेकिंग न्यूज़:यूपीएसआरटीसी के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुरक्षा बलों हेतु "सुरक्षा उपकरण किट" (1000 फेस मास्क, 1000 दस्ताने और 1000 हैंड सैनिटाइज़र) दान दिये:::---